मूडीज ने 2019-20 के लिए भारत की आर्थिक वृद्धि का अनुमान घटाकर 5.6 प्रतिशत किया

0Shares

मूडीज इनवेस्टर्स सर्विस ने चालू वित्त वर्ष के लिए भारत की आर्थिक वृद्धि दर के अनुमान को 5.8 प्रतिशत से घटाकर 5.6 प्रतिशत कर दिया है। रेटिंग एजेंसी ने कहा कि सरकार के उपाय उपभोग मांग में व्यापक कमी को दूर नहीं कर पा रहे। कंपनी ने कहा, ‘हमने भारत के लिए आर्थिक वृद्धि के अनुमान को घटा दिया है। हमारा अनुमान है कि 2019-20 में यह 5.6 प्रतिशत रहेगी जो 2018-19 में 7.4 प्रतिशत थी।’

उसने कहा कि भारत में नरमी पूर्वानुमान के विपरीत ज्यादा लंबी अवधि तक खिंच गई है। इसके चलते उसे अपना अनुमान कम करना पड़ा है। इससे पहले, मूडीज ने 10 अक्टूबर को 2019-20 में आर्थिक वृद्धि दर का अनुमान 6.2 प्रतिशत से घटाकर 5.8 प्रतिशत कर दिया था। पिछले सप्ताह ही रेटिंग एजेंसी ने भारत के परिदृश्य को स्थिर से नकारात्मक कर दिया है। मूडीज ने ग्लोबल मैक्रो आउटलुक (वैश्विक वृहत आर्थिक परिदृश्य) 2020-21 में कहा कि भारत में आर्थिक गतिविधियां आने वाले वर्षों में बढ़ेंगी।

देश की आर्थिक वृद्धि दर 2020-21 और 2021-22 में क्रमश: 6.6 प्रतिशत और 6.7 प्रतिशत रहने की संभावना है। लेकिन वृद्धि की गति पूर्व वर्षों के मुकाबले धीमी ही रहेगी। मूडीज के अनुसार, निवेश गतिविधियां पहले से धीमी है लेकिन खपत के लिए मांग के कारण अर्थव्यवस्था में तेजी बनी हुई थी। हालांकि अब खपत मांग भी नरम हुई है जिससे मौजूदा नरमी को लेकर समस्या बढ़ रही है।

6749total visits,1visits today

1508791total sites visits.
Hello
Can We Help You?
Powered by