जब गरीबों के खातों में आए लाखों रुपये और फिर…

0Shares

उत्तर प्रदेश के बरेली में गरीबों को पीएम आवास दिलाने के नाम पर डूडा कार्यालय में टेरर फंडिंग का अंदेशा है। आवास दिलाने के नाम पर अभ्यार्थियों के बैंक खाता खुलवाए गए। 35 लोगों के ग्रुप ने खाते ऐसे बैंक की ब्रांच में खुलवाए जहां उनकी सेटिंग पहले से थी। खुलवाए गए किसी के खाते में सात तो किसी के में 20 लाख रुपये तक आए। खातेदार को यह पता भी नहीं उसके खाते में पैसा कब आया और किसने निकाल लिया। खातेदारों में इस फंडिंग को लेकर हड़कंप मचा हुआ है। एक फाइंसेंस कंपनी के साठगांठ करके खातों के जरिए लाखों रुपये का लेनदेन किया गया है। लोगों ने इसकी शिकायत एसएसपी से की है।

डूडा कार्यालय में प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए फार्म भरवाने की प्रक्रिया हो रही है। इस प्रक्रिया में 42 लड़के, लड़कियों का ग्रुप बना है जो डूडा में आने वाले हर व्यक्ति पर नजर रखे हुए हैं। प्रधानमंत्री आवास दिलाने के नाम पर उनके फार्म भरवाए जा रहे हैं। इसके लिए उन्हें इज्जतनगर क्षेत्र में बैंक की शाखा में खाता खोलने की बात रखते हैं। अभ्यार्थी को कार में साथ बैठाकर बैंक में खाता खुलवाने तक जाते हैं। खाता खुलवाने के बाद कागजी कार्रवाई पूरी कर उन्हें भेज दिया जाता है।

मोहल्ला सिकलापुर निवासी कृष्णना देवी के खाते में पिछले महीने के आखिरी सप्ताह में सात लाख रुपये अचानक आए। कृष्णना देवी के मोबाइल पर रकम आने का मैसेज आया तो पूरा परिवार हैरत में पड़ गया। जब बैंक जाकर पासबुक पर एंट्री कराई तो सात लाख आने और रकम निकालने की डिटेल मिली। इस बात को लेकर कृष्णना देवी का परिवार हैरान और परेशान है। इसी तरह मोहल्ला रबड़ी टोला निवासी नाजमीन, अलीशा जैसे कई खातों में सात-सात लाख रुपये का ट्रांजेक्शन किया गया है। मकरंदपुर सरकार मोहल्ले की किरन ने एसएसपी को दी तहरीर में कहा कि कुछ लोगों ने ढाई लाख का लोन दिलाने के नाम पर फार्म भरवाया और उनके खाते से 50 लाख से ज्यादा का लेनदेन किया गया।

डूडा में लगे हुए हैं दलाल खातों में चल रहा खेल 
डूडा कार्यालय का पहला ऐसा मामला नहीं है जो सुर्खियों में नहीं आया। इससे पहले भी गबन और टेंडरों में खेल के मामलों की लंबी फेहरिस्त है। अधिकारियों के इशारे पर ही डूडा में दलाल सक्रिय हैं। जो भी लोग आते है उनसे पैसे लेकर लोन दिलाने, आवास दिलाने और योजनाओं को लाभ पहुंचाने का काम दलाल ही करते हैं। इस मामले में दलाल एकदम खामोश हैं।

डीएम आवास के सामने फाइनेंस कंपनी से खेल 

शहर का सबसे सुरक्षित इलाका सिविल लाइंस डीएम आवास के सामने एक फाइनेंस कंपनी से उन लोगों के सीधे तार जुड़े थे जो लोगों के फार्म भरवाकर खाता खुलवाने के लिए लाते थे। डीएम आवास के सामने इस तरह का खेल होता रहा लेकिन अधिकारियों को इसकी भनक तक नहीं लगी। अब जब लोगों ने एसएसपी से शिकायत की है तो कार्रवाई की उम्मीद है।

खाता खुलवाने के लिए गाड़ियों में बैठाकर ले गए 
खातों से लेनदेन करने वालेां की साजिश पहले से पुख्ता थी। डूडा आफिस में जो भी प्रधानमंत्री आवास या योजनाओं की मदद लेने आता था उसके फार्म भरवाकर सीधे गाड़ियों में बैठाकर खाता खुलवाने इज्जतनगर, डीएम आवास के पास एक फाइन्सेंस कंपनी के यहां ले जाते थे। लोगों के दस्तावेज जमा करने के बाद उन्हें भरोसा दिया जाता था कि 15 से 20 दिन में आपको लोन की रकम मिल जाएगी।

124total visits,1visits today

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

विराट कोहली ने टेस्ट क्रिकेट के लिए BCCI को दी ये सलाह

Tue Oct 22 , 2019
उत्तर प्रदेश के बरेली में गरीबों को पीएम आवास दिलाने के नाम पर डूडा कार्यालय में टेरर फंडिंग का अंदेशा है। आवास दिलाने के नाम पर अभ्यार्थियों के बैंक खाता खुलवाए गए। 35 लोगों के ग्रुप ने खाते ऐसे बैंक की ब्रांच में खुलवाए जहां उनकी सेटिंग पहले से थी। […]

Breaking News

2294198total sites visits.

LIVE NEWS

Breaking News

महत्वपूर्ण खबर

सीबीएसई ने एग्जाम सेंटर में एंट्री के नाम पर होने वाले खेल को रोकने के लिए उठाया ये कदम

परिवार के लिए छोड़ी थी पढ़ाई, अब 91 की उम्र में डिप्लोमा किया

अब 332 नहीं बल्कि 338 खिलाड़ियों की लगेगी बोली, जानिए कौन से छह नए नाम लिस्ट में जुड़े

अंदर तक झकझोर के रख देगी रानी मुखर्जी की फिल्म ‘मर्दानी 2’

गोमती नदी सफाई में ‘हिंदुस्तान’ के साथ जुटा पूरा लखनऊ

Hello
Can We Help You?
Powered by