चिता पर पका रहे थे चावल, जानें क्या है पूरा मामला

0Shares

हरियाणा के बल्लभगढ़ में छायंसा गांव के श्मशान घाट में तंत्र विद्या करके सिद्धी प्राप्त करने के लिए महिला की जलती चिता पर मिट्टी की हांडी में चावल पकाने वाले मंदिरों के तीन बाबाओं को शुक्रवार देर शाम ग्रामीणों ने पकड़ पुलिस के हवाले कर दिया। तीनों के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज कर अदालत में पेश किया, जहां से तीनों को जेल भेज दिया है। जांच अधिकारी ने बताया कि करीब नौ बजे जब श्मशान घाट पहुंचे तो तीनों बाबाओं को ग्रामीणों ने काबू किया था।

सिद्धि के लिए कर रहे थे तंत्र विद्या
पूछताछ में पुलिस को मिली जानकारी के मुताबिक एक आरोपी 42 वर्षीय सूरजनाथ पिछले 15 साल से गांव अटाली के बड़े मंदिर पर महंत के रूप में कार्यरत था। इसके अलावा दूसरे काबू बाबा ने अपना नाम वीरनाथ उम्र 30 साल निवासी होशियारपुर ज्वालादेवी हिमाचल बताया। वह पिछले डेढ़ साल से छायंसा के एक मंदिर में महंत के रूप में रहता था। इनके अलावा तीसरे आरोपी ने अपना नाम भारत उम्र 30 साल निवासी शाहीबिछूपुरा आगरा बताया। वह वीरनाथ के पास 15 दिन पहले ही आया था। काबू करने के बाद पुलिस ने हांडी की जांच की तो उसमें चावल पकाए जा रहे थे, जिसमें गुड़ मिलाया हुआ था।

ये है मामला
छायंसा निवासी रूपचंद की पत्नी उम्र 50 साल की शुक्रवार को मौत हो गई थी। दोपहर बाद वह और उनके परिवार के लोग तथा ग्रामीण गांव के श्मशान घाट में उनका अंतिम संस्कार करने पहुंचे। रात को करीब साढ़े आठ बजे रूपचंद पत्नी की चिता को देखने श्मशान घाट पहुंच गया। यहां तीन लोग चिता के सिरहाने पर मिट्टी की हांडी रखकर कुछ कर रहे थे। सूचना मिलते ही ग्रामीण श्मशान घाट पहुंच गए। ग्रामीणों ने तीनों को पुलिस के हवाल कर दिया।

43total visits,1visits today

1098571total sites visits.
Hello
Can We Help You?
Powered by