सरकार दे रही है भारत 22 ETF में निवेश का मौका, मिलता है PF से ज्यादा रिटर्न- जानें कैसे खरीदें

0Shares

रिजर्व बैंक शुक्रवार को मौद्रिक नीति में रेपो रेट में 25 बेसिस प्वाइंट की कटौती तक दी है। बैंकों की ब्याज दरें रेपो रेट से जुड़ने के बाद सावधि जमा सहित अन्य जमाओं पर ब्याज दरें पहले ही काफी नीचे आ चुकी हैं। ऐसे में भारत 22 ईटीएफ छोटे निवेशकों के लिए निवेश का एक बेहतर विकल्प हो सकता है। सरकार ने गुरुवार को इसकी चौथी सीरिज तीन फीसदी छूट के साथ बाजार में उतारी है। छोटे निवेशकों को 4 अक्तूबर से इसमें निवेश का मौका मिलेगा।

क्या है ईटीएफ
यह म्यूचुअल फंड की स्कीम है। इसे शेयर बाजार में खरीदा-बेचा जा सकता है। इसके लिए डीमैट खाता जरूरी होता है। इसकी पूंजी का अधिकांश हिस्सा अलग-अलग क्षेत्रों की कंपनियों के शेयरों में लगाया जाता है। इसकी वजह से आम निवेशकों के लिए शेयरों में सीधे निवेश की तुलना में इसमें निवेश पर जोखिम कम होता है। जबकि बाजार में तेजी आने पर शेयरों की तरह आकर्षक रिटर्न मिलता है।

भारत-22 ईटीएफ में क्या है खास
इसमें 22 कंपनियों के शेयर शामिल हैं जिसमें 19 सरकारी क्षेत्र की और तीन निजी क्षेत्र की कंपनियां शामिल हैं। यह पहली ऐसी सरकारी निवेश योजना है जिसमें सरकारी कंपनियों के साथ निजी कंपनियों के शेयर भी शामिल हैं। ओएनजीसी, कोल इंडिया और एसबीआई जैसी सरकारी कंपनियों के साथ एक्सिस बैंक, आईटीसी और एलएंडटी जैसी निजी क्षेत्र की दिग्गज कंपनियां शामिल हैं। इसमें निवेशकों को अब तक 12.50 फीसदी तक का रिटर्न मिल चुका है।

छोटी राशि से निवेश का विकल्प
सरकार ने गुरुवार को भारत 22 ईटीएफ की चौथी सीरिज पेश की है। इसमें निवेशकों को तीन फीसदी छूट मिल रही है। इसका मतलब है कि यदि भारत 22 ईटीएफ की कीमत 100 रुपये है तो वह निवेशकों को 97 रुपये में मिलेगी। सरकार ने छोटे निवेशकों के मद्देनजर इसमें न्यूनतम पांच हजार रुपये निवेश की सुविधा दे रखी है।

कम जोखिम और ज्यादा मुनाफा
शेयरों में सीधे निवेश पर बाजार में गिरावट आने पर भारी नुकसान का जोखिम होता है। वित्तीय सलाहकारों का कहना है कि भारत 22 ईटीएफ में छूट की वजह से इसमें निवेश पर जोखिम घट जाएगा जो बाजार में उतार-चढ़ाव भरे माहौल में बेहद महत्वपूर्ण है। इसे उदाहरण से समझ सकते हैं। यदि भारत 22 ईटीएफ का एक यूनिट की कीमत 100 रुपये है तो तीन फीसदी छूट के बाद निवेशकों 97 रुपये में मिलेगी। ऐेस में यदि बाजार में तीन फीसदी तेजी आती है तो निवेशकों को छह फीसदी का फायदा होगा। वहीं यदि तीन फीसदी की गिरावट आती है तो एक रुपये का भी नुकसान नहीं होगा।

अब तक का प्रदर्शन
भारत-22 ईटीएएफ तारीख छूट छूट के साथ रिटर्न
सीरिज-1 24 नवंबर 2017 03 0.40
सीरिज-2 21 जून 2018 2.5 3.60
सीरिज-3 14 फरवरी 2019 05 12.50
(छूट एवं रिटर्न फीसदी में)

143total visits,2visits today

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

पाकिस्तान में गैर मुस्लिम नहीं बन सकेंगे प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति, संसद ने रोका बिल

Fri Oct 4 , 2019
रिजर्व बैंक शुक्रवार को मौद्रिक नीति में रेपो रेट में 25 बेसिस प्वाइंट की कटौती तक दी है। बैंकों की ब्याज दरें रेपो रेट से जुड़ने के बाद सावधि जमा सहित अन्य जमाओं पर ब्याज दरें पहले ही काफी नीचे आ चुकी हैं। ऐसे में भारत 22 ईटीएफ छोटे निवेशकों […]
2583039total sites visits.

LIVE NEWS

Breaking News

महत्वपूर्ण खबर

सीबीएसई ने एग्जाम सेंटर में एंट्री के नाम पर होने वाले खेल को रोकने के लिए उठाया ये कदम

कोरोना लॉकडाउन में यात्रियों की भीड़ कम करने को सरकार नहीं चला रही कोई स्पेशल ट्रेन

परिवार के लिए छोड़ी थी पढ़ाई, अब 91 की उम्र में डिप्लोमा किया

अब 332 नहीं बल्कि 338 खिलाड़ियों की लगेगी बोली, जानिए कौन से छह नए नाम लिस्ट में जुड़े

अंदर तक झकझोर के रख देगी रानी मुखर्जी की फिल्म ‘मर्दानी 2’

Live Updates COVID-19 CASES