मनोवांछित फल देने वाली हैं मां कात्यायनी, पढ़ें उनकी कथा

0Shares

कात्यायनी अमरकोष में पार्वती के लिए दूसरा नाम है, संस्कृत शब्दकोश में उमा, कात्यायनी, गौरी, काली, हेमावती व ईश्वरी इन्हीं के अन्य नाम हैं। शक्तिवाद में उन्हें शक्ति या दुर्गा, जिसमें भद्रकाली और चंडिका भी शामिल हैं। यजुर्वेद के तैत्तिरीय आरण्यक में उनका उल्लेख किया है। स्कन्द पुराण में उल्लेख है कि वे परमेश्वर के नैसर्गिक क्रोध से उत्पन्न हुई थीं, जिन्होंने देवी पार्वती द्वारा दिए गए सिंह पर आरूढ़ होकर महिषासुर का वध किया। वह शक्ति की आदि रूपा हैं, जिनका उल्लेख पाणिनि पर पतंञ्जलि के महाभाष्य में किया गया है, जो दूसरी शताब्दी ईसा पूर्व में रचित है। उनका वर्णन देवीभागवत पुराण, और मार्कंडेय ऋषि द्वारा रचित मार्कंडेय पुराण के देवी महात्म्य में किया गया है। इसे 400 से 500 ईसा में लिपिबद्ध किया गया था। बौद्ध और जैन ग्रंथों और कई तांत्रिक ग्रंथों, विशेष रूप से कालिका पुराण (दसवीं शताब्दी) में उनका उल्लेख है, जिसमें उड़ीसा में देवी कात्यायनी व भगवान जगन्नाथ का स्थान बताया गया है।

721total visits,1visits today

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

अमरिंदर सिंह के न्यौते पर पूर्व पीएम मनमोहन सिंह अगले महीने जाएंगे करतारपुर साहिब

Thu Oct 3 , 2019
कात्यायनी अमरकोष में पार्वती के लिए दूसरा नाम है, संस्कृत शब्दकोश में उमा, कात्यायनी, गौरी, काली, हेमावती व ईश्वरी इन्हीं के अन्य नाम हैं। शक्तिवाद में उन्हें शक्ति या दुर्गा, जिसमें भद्रकाली और चंडिका भी शामिल हैं। यजुर्वेद के तैत्तिरीय आरण्यक में उनका उल्लेख किया है। स्कन्द पुराण में उल्लेख […]
2583205total sites visits.

LIVE NEWS

Breaking News

महत्वपूर्ण खबर

सीबीएसई ने एग्जाम सेंटर में एंट्री के नाम पर होने वाले खेल को रोकने के लिए उठाया ये कदम

कोरोना लॉकडाउन में यात्रियों की भीड़ कम करने को सरकार नहीं चला रही कोई स्पेशल ट्रेन

परिवार के लिए छोड़ी थी पढ़ाई, अब 91 की उम्र में डिप्लोमा किया

अब 332 नहीं बल्कि 338 खिलाड़ियों की लगेगी बोली, जानिए कौन से छह नए नाम लिस्ट में जुड़े

अंदर तक झकझोर के रख देगी रानी मुखर्जी की फिल्म ‘मर्दानी 2’

Live Updates COVID-19 CASES