World Cup 2019: विराट से लेकर धौनी तक, जानिए इनकी डाइट और फिटनेस का राज

0Shares

ICC World Cup 2019: कोई भी खिलाड़ी दिन-रात तपकर ही फौलादी फिटनेस हासिल करता है। क्रिकेटरों की दिनचर्या बेहद अनुशासित और संयमित होती है। ट्रेनर और डाइटीशियन हफ्ते से लेकर हर घंटे का प्रोग्राम तैयार करते हैं। सुबह पांच बजे से शाम सात बजे तक का कार्यक्रम बेहद सख्त रहता है। इस वर्ल्ड कप के सबसे फिट खिलाड़ियों के विस्तृत फिटनेस रुटीन पर एक खास रिपोर्ट…

आंद्रे रसेल
वेस्टइंडीज के 31 वर्षीय आंद्रे रसेल दुनिया के सबसे ताकतवर क्रिकेटरों में एक माने जाते हैं। उनके सिक्स पैक एब्स और मैदान पर तूफानी शॉट इसका उदाहरण हैं। दमदार फिटनेस के लिए रसेल महान हमवतन धावक उसेन बोल्ट के फिजियो एवरल्ड एडी के मार्गदर्शन में ट्रेनिंग करते हैं।

फिटनेस मंत्र
– रोजाना जिम में घंटों एक्सराइज
– स्वीमिंग पूल में रनिंग कर स्टेमिना बढ़ाते हैं
– वेटलिफ्टिंग से मांसपेशियां मजबूत बनाते हैं
– मसालेदार खाने से परहेज

विराट कोहली
विकेट के बीच की दौड़ और पूरे दमखम के साथ लंबी पारियां विराट कोहली की कड़ी मेहनत की वजह से हैं। फील्डिंग में गजब की फुर्ती उनकी फिटनेस दर्शाती है।

फिटनेस मंत्र 
– सुबह चार से पांच घंटा और शाम को भी इतना ही वर्कआउट
– समय से सोना और जल्दी बिस्तर छोड़ना आदत में शामिल
– खान-पान पर सख्त नियंत्रण, चावल और मीठे से परहेज
– यो-यो टेस्ट में सबसे ज्यादा 21 अंक
– फुटवर्क, स्ट्रेंथ, स्टेमिना, ताकत, स्पीड और फंक्शनल मूवमेंट पर खास ध्यान

बेन स्टोक्स 
इंग्लैंड के 28 वर्षीय इस युवा ऑलराउंडर ने फिटनेस के मामले में धुरंधर खिलाड़ियों को पीछे छोड़ दिया है। इसी की बदौलत वह इतनी तेज गति से दौड़ते हैं कि फर्राटा एथलीट भी पीछे छूट जाते हैं।

फिटनेस मंत्र
– 14 घंटे ट्रेनिंग के बाद रिकवरी पर खास ध्यान
– सामान्य के बजाय लिक्विड डाइट पर ज्यादा भरोसा
– ताकत के साथ चुस्ती-फुर्ती बढ़ाने पर जोर
– गति के मामले में सबसे तेज खिलाड़ियों में शामिल

महेंद्र सिंह धौनी
विकेट के पीछे महेंद्र सिंह धौनी की चुस्ती-फुर्ती सभी ने देखी है। 37 वर्ष की उम्र में विकेटों की बीच उनकी दौड़ उनकी फिटनेस की गवाह है। विश्राम के दिनों में भी वह मैदान पर जरूर अभ्यास करते हैं। मैदान पर धैर्यशील और शांत बने रहने के लिए योग का सहारा लेते हैं।

फिटनेस मंत्र 
– दिनभर में कुल 12 घंटे ट्रेनिंग
– जिम में कंडीशनिंग पर खास ध्यान
– फुटवर्क, स्ट्रेचिंग और स्टैमिना पर कड़ी मेहनत
– मांसपेशियों को दुरुस्त रखने के लिए हाई इंटेक मील

फाफ डुप्लेसी
35 की उम्र में भी गजब के फिट हैं दक्षिण अफ्रीकी कप्तान। यह बल्लेबाज फिटनेस पर सबसे ज्यादा ध्यान देता है। उन्होंने अपना व्यक्तिगत फिटनेस ट्रेनर, मसाजर और डाय्इटीशियन नियुक्त किया हुआ है।

फिटनेस मंत्र
– तीन वक्त विशेष ट्रेनिंग, औसतन 12 से 16 घंटा
– प्राकृतिक खुराक की अपेक्षा सप्लीमेंट पर ज्यादा भरोसा
– तेज गति से दौड़ने के अभ्यास से रन लेने में महारत
– सबसे ज्यादा ताकत और मजबूती पर ध्यान

यो यो टेस्ट नया पैमाना
यो यो टेस्ट किसी भी खिलाड़ी की फिटनेस परखने की कंप्यूटर आधारित प्रक्रिया है। यह टेस्ट फुटबॉल और हॉकी से होता हुआ क्रिकेट में आया है। ऑस्ट्रेलियाई टीम ने सबसे पहले क्रिकेटरों का यो यो टेस्ट लेना शुरू किया था। विभिन्न क्रिकेट बोर्ड किसी भी टीम के चयन से पहले खिलाडि़यों की फिटनेस जांचने के लिए इसका इस्तेमाल करते हैं।

78total visits,1visits today

712743total sites visits.
Hello
Can We Help You?
Powered by